मेरा पहला मोबाइल

मेरा पहला मोबाइल एक हिन्दी चित्रकथा प्रकाशन है, जिसमें एक 15-वर्षीया किशोरी की कहानी है, जो अपने पहले मोबाइल फोन के जरिए डिजिटल दुनिया में दाखिल होती है। यह चित्रकथा ऑनलाइन और मुद्रित, दोनों माध्यमों में उपलब्ध है। इस कहानी में पक्षपोषकों को दिखाया गया है और पहले मोबाइल के साथ उस लड़की के अनुभव के बारे में बताया गया है, जिसमें वह लैंगिक पक्षपातों से जूझती है, डिजिटल निजता और सुरक्षा के मामले से निपटती है, यह उसकी आवश्यकताओं, इच्छाओं और महत्वाकांक्षाओं को दिखाती है।