Increase / Decrease
Choose color

एक अंजलि, अनेक अंजलियाँ

सपनों का हक की पाँचवी पत्रिका अंजलि राजपूत नाम की एक किशोरी के बारे में है, जिसने किशोरी दल (किशोरियों का समूह) बनाया है, ताकि प्रचलित लैंगिक भेदभावों, बाल विवाह आदि से लड़ सके और उत्तर प्रदेश के गाँवों में लड़कों और लड़कियों के बीच निष्पक्षता तथा समानता के संदेश का प्रचार प्रसार कर सके। यह पत्रिका उसकी कहानी पर आधारित है।